किसी की राह में दहलीज़ पर दीये न रखो

किसी की राह में दहलीज़ पर दीये न रखो
किवाड़* सूखी हुई लकड़ियों के होते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *