मेरी तनहाई का ज़िक्र ना किया कर

मेरी तनहाई का ज़िक्र ना किया कर,
सब के अपने अपने नसीब होते है..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *