परिंदे शुक्रगुजार हैं

परिंदे शुक्रगुजार हैं पतझड़ के भी दोस्तो……

तिनके कहां से लाते, अगर सदा बहार रहती..!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *