Alone Shayari Archive

yaado ki farfaish

Posted December 27, 2017 By admin

यादों की फरमाइश भी कमाल की होती है…
सजदा वही होता है जहाँ दिल हार जाता हैं

Be the first to comment

dono ne chod di fikrr

Posted December 22, 2017 By admin

दोनों ने ही छोड़ दी फ़िक्र,
उसने मेरी, मैनें ख़ुद की…!

Be the first to comment

Teri Yaad Nahi Jaati..

Posted December 5, 2017 By admin
तेरी याद नहीं जाती..
होठों से तेरी बात नहीं जाती..
जाने  क्या  करिश्मा हैं क़ुदरत का,
तेरे लौट आने की आस नहीं जाती..
Be the first to comment

माना की दूरियां कुछ बढ़ सी गयीं हैं
लेकिन तेरे हिस्से का वक़्त आज भी तनहा गुजरता है…

Be the first to comment

मुलाकात एक मांगी थी

Posted November 28, 2017 By admin

मुलाकात एक मांगी थी मैंने,
नज़ाकत तो देखिये,
रखकर लिफाफे में इक फूल उसने भेजा है,गुलाब का

Be the first to comment

वो एक शक़्स मुझे अपने क़रीब लगता है
खुद से करूँ जुदा तो अजीब लगता है

ये बेक़रारी, ये बेचैनी, ये कशिश कैसी
उसका मिलना मुझे अपना नसीब लगता है

कभी मीठी सी बातें, कभी हर बात पे झगड़े
ये याराना बड़ा दिलचस्प, बे-तरतीब लगता है

मोहब्बत की मंज़िल का पता न मिल सके फिर भी
कई सदियों का रिश्ता ये मेरे हबीब लगता है

उसके होने से जो सज जाती थी महफ़िलें
उसके बग़ैर ये शहर बड़ा गरीब लगता है

Be the first to comment

ख़्याल कितना है.

Posted September 9, 2017 By admin

एक परवाह ही बताती है कि*
ख़्याल कितना है..!!*

वरना कोई तराजू नहीं होता*
रिश्तो में…!!!*

Be the first to comment