Hindi Shayari on Life

एक और शाम हो गयी, एक और दिन ढल गया,
इस ज़िन्दगी की किताब से एक और पन्ना निकल गया…!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *